नवीनतम प्रविष्ठियां सभी देखें

हाय दिसंबर तुम बहुत प्यारे हो…

हाय दिसंबर तुम बहुत प्यारे हो…

सुबह की धुंध में  उनीदीं आँखों से देखने की कोशिश में सिहराती हवा में, शीत में बरसते हो, बर्फीली ज्यूँ घटा से. लिहाफों में जा…'

10 Comments 164 दृश्य

बेहतरीन इंसान की मिसाल भी थे डॉ विवेकी राय (एक श्रद्धांजलि)

बेहतरीन इंसान की मिसाल भी थे डॉ विवेकी राय (एक श्रद्धांजलि)

एक बेहद दुखद सूचना अभी अभी मिली है कि प्रख्यात हिंदी साहित्यकार डॉ. विवेकी राय का आज सुबह पौने पांच बजे वाराणसी में निधन हो गया है। बीते 19 नवंबर…'

6 Comments 351 दृश्य

लन्दन में रथयात्रा … एक चित्रमाला.

लन्दन में रथयात्रा … एक चित्रमाला.

यूँ मैं बहुत धार्मिक नहीं और पूजा पाठ में तो यकीन न के बराबर है. पर मैं नास्तिक भी नहीं और उत्सवों में त्योहारों में…'

9 Comments 172 दृश्य

जियो जी भर…

जियो जी भर…

अमरीका के एक प्रसिद्ध लेखक रे ब्रैडबेरि का कहना है कि अपनी आँखों को अचंभों से भर लो, जियो ऐसे कि जैसे अभी दस सेकेण्ड में गिर कर…'

5 Comments 237 दृश्य

अब आगे क्या ? (UK’s EU referendum, 2016)

अब आगे क्या ? (UK’s EU referendum, 2016)

वह बृहस्पतिवार का दिन था - तारीख 23 जून 2016  - जब एक जनमत संग्रह के लिए मतदान किया जाने वाला था. इसमें वोटिंग के…'

4 Comments 157 दृश्य

आर या पार …

आर या पार …

बस एक दिन बचा है. EU के साथ या EU के बाहर. मैं अब तक कंफ्यूज हूँ. दिल कुछ कहता है और दिमाग कुछ और. …'

5 Comments 184 दृश्य

सर्वप्रिय प्रविष्ठियां

Nothing Found

It seems we can’t find what you’re looking for. Perhaps searching can help.

कैलेंडर