नवीनतम प्रविष्ठियां सभी देखें

यथार्थ के आकाश पर कल्पना की उड़ान… ‘उडारी”

यथार्थ के आकाश पर कल्पना की उड़ान… ‘उडारी”

अरुणा सब्बरवाल जी का नया कहानी संग्रह जब हाथ में आया तो सबसे पहले ध्यान आकर्षित किया उसके शीर्षक ‘उडारी’ ने ।जैसे हाथ में आते…'

5 Comments 483 दृश्य

हाय दिसंबर तुम बहुत प्यारे हो…

हाय दिसंबर तुम बहुत प्यारे हो…

सुबह की धुंध में  उनीदीं आँखों से देखने की कोशिश में सिहराती हवा में, शीत में बरसते हो, बर्फीली ज्यूँ घटा से. लिहाफों में जा…'

10 Comments 350 दृश्य

बेहतरीन इंसान की मिसाल भी थे डॉ विवेकी राय (एक श्रद्धांजलि)

बेहतरीन इंसान की मिसाल भी थे डॉ विवेकी राय (एक श्रद्धांजलि)

एक बेहद दुखद सूचना अभी अभी मिली है कि प्रख्यात हिंदी साहित्यकार डॉ. विवेकी राय का आज सुबह पौने पांच बजे वाराणसी में निधन हो गया है। बीते 19 नवंबर…'

7 Comments 771 दृश्य

लन्दन में रथयात्रा … एक चित्रमाला.

लन्दन में रथयात्रा … एक चित्रमाला.

यूँ मैं बहुत धार्मिक नहीं और पूजा पाठ में तो यकीन न के बराबर है. पर मैं नास्तिक भी नहीं और उत्सवों में त्योहारों में…'

9 Comments 321 दृश्य

जियो जी भर…

जियो जी भर…

अमरीका के एक प्रसिद्ध लेखक रे ब्रैडबेरि का कहना है कि अपनी आँखों को अचंभों से भर लो, जियो ऐसे कि जैसे अभी दस सेकेण्ड में गिर कर…'

5 Comments 554 दृश्य

अब आगे क्या ? (UK’s EU referendum, 2016)

अब आगे क्या ? (UK’s EU referendum, 2016)

वह बृहस्पतिवार का दिन था - तारीख 23 जून 2016  - जब एक जनमत संग्रह के लिए मतदान किया जाने वाला था. इसमें वोटिंग के…'

4 Comments 290 दृश्य

सर्वप्रिय प्रविष्ठियां

Nothing Found

It seems we can’t find what you’re looking for. Perhaps searching can help.

कैलेंडर